भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

प्रतिबद्ध/ हरीश करमचंदाणी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

ज़मीन का दुःख
जड़ो से होता हुआ
शीर्ष तक पहुंचा
और पेड़ सूख गया