भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बाढ़-2 / स्वप्निल श्रीवास्तव

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बाढ़ सब से पहले हमारे घर
आती है

अपने समय पर पहुँच जाता है
सूखा

सबसे बुरी ख़बर यह है कि
राजनेता हमारे घर आने लगे हैं

उनकी शक्लों में दिखाई देते हैं
गिद्ध
वे झपट्टा मारने को तत्पर हैं

हम बाढ़ और सूखे से खुद को
बचा लेंगे
कोई हमें इन आदमख़ोरों से
बचाए