भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बीकानेर-6 / सुधीर सक्सेना

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सदियों से रेत के विस्तार में
खड़ा है बीकानेर
रेत में जनमा
रेत का अभ्यस्त
रेत पर अमिट इबारत लिखने में
व्यस्त
बीकानेर चुका नहीं
चुका हो भले ही हो
दुनिया इस बाबत भी जानती है
कि साधने पर आ जाए
तो चूकता नहीं बीकानेर का निशाना