भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बीकानेर-7 / सुधीर सक्सेना

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

किसी के सपनों में आता है
हवामहल
किसी के सपनों में
बावड़ियां
किसी के सपनों में
बुर्ज
किसी के सपनों में
दूह-ढाणियां
तो किसी के सपनों में
प्राचीर

मगर
बाज वक्त
रेगिस्तान के सपनों में आता है
मोजड़ी में पांव दिए बीकानेर