भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

बीच हमारे कुछ दूरी है / वर्षा सिंह

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बीच हमारे कुछ दूरी है ।
शायद उसकी मजबूरी है ।

संवादों से लगे पराया
दिल ही दिल में मंज़ूरी है ।

मन बहकाए, तन बहकाए
गंध प्यार की कस्तूरी है ।

जब-जब बरसी प्यार की 'वर्षा'
भीगी ये दुनिया पूरी है ।