भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भरोसा मुश्किल / एरिष फ़्रीड / प्रतिभा उपाध्याय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुझे भरोसा नहीं
कि तुम्हें अब भी भरोसा है
कि मैं भरोसा करता हूँ

मुझे भरोसा नहीं
कि मुझे भरोसा है
कि मुझे अब भी भरोसा है

मुझे भरोसा भी नहीं
कि मैं पर्याप्त सबल हूँ
उस पर भरोसा नहीं करने के लिए
जिस पर मुझे भरोसा नहीं I

मूल जर्मन से अनुवाद : प्रतिभा उपाध्याय