भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भूलना / एरिष फ़्रीड

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुझे अपना प्यार भूल जाना है
अपने भविष्य की ख़ातिर
पर मुझे अपना भविष्य
कहीं दिखाई नहीं देता

मुझे अपना प्यार भूल जाना है
अपनी इज़्ज़त की ख़ातिर
पत्र अपनी इज़्ज़त
कहीं है ही नहीं

मुझे अपना प्यार भूल जाना है
बहुत-सी ठोस वज़हों से
पर मुझे कोई भी वज़ह
याद नहीं आती

मुझे अपना प्यार भूल जाना है
उसकी ख़ातिर जिससे मुझे प्यार है
क्या मैं इसके क़ाबिल हूँ?
क्या मेरा प्यार इस हद तक है?

मूल जर्मन भाषा से अनुवाद : उज्ज्वल भट्टाचार्य