भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

भ्रातृत्व / बालकृष्ण काबरा ’एतेश’ / ओक्ताविओ पाज़

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

 क्लाडियस टोलेमी के लिए श्रद्धांजलि के साथ

मैं आदमी हूँ : थोड़ा है जीवन
और रात है बहुत बड़ी।

लेकिन ऊपर देखता हूँ मैं :
सितारे लिखते हैं।

न जानते हुए मैं समझता हूँ :
मैं भी लिखा जा चुका हूँ,

और
इसी क्षण
कोई निकाल रहा है मेरा अर्थ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : बालकृष्ण काबरा ’एतेश’