भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मतलब / मनीष मूंदड़ा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रोशनी का असल मतलब
अब समझ में आ रहा हैं
जब, दिन बस अब ढलने को हैं

सपनों का असल मतलब
अब समझ में आ रहा हैं
जब, सपने बस अब टूटने को हैं

घर होने का असल मतलब
अब समझ में आ रहा हैं
जब, अपना यह घर बस टूटने को हैं

तुम्हारे होने का असल मतलब
अब समझ में आ रहा हैं
जब, तुम्हारा मन बस अब निकल चलने को हैं

साथ चलने का असल मतलब
अब समझ में आ रहा है
जब, साथ बस अब छूटने को है

जि़ंदगी का असल मतलब
अब समझ में आ रहा हैं
जब, जि़ंदगी बस अब खत्म होने को हैं

समझने, समझाने में आखिर इतनी देर क्यूँ हो जाती हैं?