भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मलिया के बाघ में बरसे झालर मेघ हे / मगही

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मगही लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

मलिया के बाघ[1] में बरसे झालर[2] मेघ हे।
भींजले दुलरुआ मउरिया[3] सहित हे॥1॥
मउरी के रखिहऽ दुलरुआ मलिया के पास हे।
निहुरि निहुरि[4] दुलरुआ करिहऽ[5] परनाम हे॥2॥

शब्दार्थ
  1. बाग
  2. बूँदों की झड़ी लगाने वाला
  3. मौर
  4. झुक-झुककर
  5. करना