भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मालत गल्लां शोभै चम्पा फूल / अंगिका

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कहाँ में रोपवै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
कहाँ में रोपों चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

गली कूची रोपवै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
गभराँ रोपवैं चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

कथी सें पटाइवै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
कथी सें पटाइवै चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

जलोॅ से पटाइवै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
नीरोॅ सें पटाइवै चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

कौनी दौरी तोड़बै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
कौनी दौरी तोड़ौं चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

सोना दौरी तोड़वै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
रूपा दौरी तोड़ौ चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

कौनी सूती गूंथवै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
कौनी सूती गूंथौ चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

सोना सूती गूंथवै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
रूपा सूती गूथौं चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

किनका गलौं शोभतै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
किनका गलाँ शोभै चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।

शीतल गलाँ शोभतै वेली फूल चमेली फूल, कसेली फूल रीचि- रीचि।
मालत गलाँ शोभै चम्पा फूल अड़होल फूल रीचि- रीचि।