भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मुलाक़ात / हैरॉल्ड पिंटर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

यह रात का मृत समय है

बहुत पुराने मृत देखते हैं उस तरफ़
जहाँ से आ रहे हैं
नये मृत उनकी तरफ़

धड़कन की हल्की आवाज़ होती है
जब मृत गले मिलते हैं
उनसे जो बहुत समय से मृत हैं
और उन नये मृतों से
जो आ रहे हैं उनकी तरफ़

वे रोते हैं और चूमते हैं
जब वे मिलते हैं फिर से
पहली और आख़िरी बार

मूल अंग्रेज़ी से अनुवाद : अनिल एकलव्य