भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मेरी हर आहट पे तेरा ध्यान है / मदन मोहन दानिश

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मेरी हर आहट पे तेरा ध्यान है ।
ज़िन्दगी तेरा बड़ा एहसान है ।

रतजगों से हम अकेले ही नहीं,
रात भी आबाद है, गुंजान है ।

ख़ूब है यह ज़िंदगी का रंग भी,
गुल नहीं, गुलशन नहीं, गुलदान है ।

होशियारी से बताओ क्या मिला,
फ़ायदे में फिर वही नादान है ।

इब्तदाए इश्क़ में दानिश हमें,
लग रहा था ये सफ़र आसान है ।