भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मेरे पास तीन कविताएँ हैं / ऊलाव हाउगे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: ऊलाव हाउगे  » मेरे पास तीन कविताएँ हैं

मेरे पास तीन कविताएँ हैं,
उसने कहा
कविताएँ गिनने के बारे में सोचो।

एमिली ने उन्हें
एक बक्से में फेंक दिया, मैं
सोच नहीं सकता कि उसने उन्हें गिना होगा,
उसने बस फैलाया चाय का एक पैकेट
और एक नई कविता लिख दी।

यही ठीक भी था। एक अच्छी कविता में
चाय की गंध रहनी चाहिए।
या कच्ची मिट्टी की
और अभी-अभी चीरी गई लकड़ी की।


अंग्रेज़ी से अनुवाद : रुस्तम सिंह