भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

मैं भी / लैंग्स्टन ह्यूज़ / अनुराधा सिंह

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मैं भी अमरीका का वही राष्ट्रगान गाता हूँ
जो वे
हूँ किंचित अश्वेत
उनका ही भाई
जो अतिथियों के आने पर
मुझे रसोईघर में छिपा देते हैं
तब मैं दिल खोल कर हँसता हूँ
भरपेट खाता हूँ
और बढ़ाता हूँ अपनी ताक़त

क्योंकि कल
मैं भी उनके साथ खाने की उसी मेज़ पर बैठूँगा
और जब अतिथि आएँगे
तो किसी का साहस नहीं होगा कहने का
‘जा रसोईघर में खा’
दरअसल तब वे देख पाएँगे कि
मैं कितना सुन्दर हूँ
लज्जित होंगे अपनी सोच पर
क्योंकि मैं भी अमरीकी हूँ उनकी ही तरह ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : अनुराधा सिंह