भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

यादों में / नंदकिशोर आचार्य

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एक उदास गंध है
सूख कर झरे सपनों की
दरख़्त के

खुशबू के रँगों की
यादों में
डूबा है जो।

5 सितम्बर 2009