भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

रंगीन पत्थर / निशान्त

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

स्पंदन होता था कभी
इनमें भी
पथराए थे जब कभी
देख रहे होंगे
कुदरत का ऐसा ही
रंग कोई!