भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

रद्द-ए-अमल / साहिर लुधियानवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज



चंद कलियां निशात की चुनकर

मुद्दतों महवे यास रहता हूं

तेरा मिलना खुशी की बात सही

तुझ से मिलकर उदास रहता हूं