भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

लाश / जय गोस्वामी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मिट्टी खोद निकाली गई लाश ।
किसका भाई ? किसका पति ? किसका ?
मुँह तोपे सभी रुमाल से
उदास पेड़ के पत्ते ठंडी हवा लग हिलें

वह जो पत्नी है लाश की
ढकने को रोना या कि बदबू
ढकती है मुँह आँचल से

मिट्टी खुदी रिक्त खाई है मुँह बाए

वह क़ब्र खोदी है सरकार ने
अब ख़ुद ही घुस लेट जाने के लिए

बांग्ला से अनुवाद : संजय भारती