भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

विगत और आगत प्रदेशों के / कात्यायनी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

विगत और आगत प्रदेशों के
सीमान्त पर
'नो मैन्स लैंड' में
उत्तर-आधुनिक चिन्तक ने बाए
शीतयुद्धोत्तरकालीन सपने
मुंगेरीलाल के
जो हसीन न थे ।

रचनाकाल : जून 1994