भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

विधा / हरीश करमचंदाणी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वह सच कह रहा था
लोगों ने कहा कहानी
वह रो ही पड़ा
लोगो ने बताया नाटक
वह चुप रहा
लोगो ने समझी कविता

इस बार लोग गलत न थे