भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

विभाजन / होदा एल्बन

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मुखपृष्ठ  » रचनाकारों की सूची  » रचनाकार: होदा एल्बन  » विभाजन

हम दोनों के बीचो-बीच
पसरी हुई है रात
रूप-रंग
बदलती हुई निरंतर

एक तारा टूटा
स्मृतियों की
उसकी चुनर से

और
जा कर टंग गया
सुदूर आकाश में

एकाकी...


अंग्रेज़ी से अनुवाद : यादवेन्द्र