भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

Changes

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कलम चलेन / बदरीनाथ भट्टराई

378 bytes added, 10:30, 9 जुलाई 2018
भएर दिक्क छाडि नै दिएँ तुरुन्त लेखनी ।।६।।
('पद्यनोट-संग्रह' पं. बदरीनाथद्वारा सम्पादित पुस्तक [[पद्यसङ्ग्रह_/_सम्पादित_पुस्तक|पद्यसङ्ग्रह]] बाटभाषाका तत्कालिन मान्यतालाई यथावत राखी जस्ताको तस्तै टङ्कण गरी सारिएको)
</poem>
Mover, Reupload, Uploader
6,377
edits