भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

Changes

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
{{KKGlobal}}
{{KKRachna
|रचनाकार=भारतेंदु भारतेन्दु मिश्र
|अनुवादक=
|संग्रह=
पीटती है अपने घर के दरवाजे
टूट जाने तक
पफाड़ फाड़ डालती है रंगीन पत्रिकाएँ
अच्छी तस्वीर से खेलने के लिए
पिता जो उसे संभालते हैं