भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

Changes

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सूरज राय 'सूरज'

564 bytes added, 13 जून
* [[कुछ सुनो मेरी अपनी सुनाओ कभी / सूरज राय 'सूरज']]
* [[लोग मुर्दों से मज़हब बचाते रहे / सूरज राय 'सूरज']]
* [[सयानी हो गई / सूरज राय]]
* [[बिस्तरों से गुज़री है / सूरज राय]]
* [[टँगे हुए चेहरे / सूरज राय]]
* [[खाली हाथ आए / सूरज राय]]
* [[दलालों का क्या हुआ / सूरज राय]]
* [[इंसान रहे होंगे / सूरज राय]]
* [[रात लेके निकला / सूरज राय]]
* [[चार मुक्तक / सूरज राय]]