भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  रंगोली
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

शहर अब भी संभावना है / अशोक वाजपेयी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

शहर अब भी संभावना है
Shahar ab bhee sambhavana hai.jpg
रचनाकार अशोक वाजपेयी
प्रकाशक भारतीय ज्ञानपीठ
वर्ष 1981
भाषा हिन्दी
विषय कविताएँ
विधा
पृष्ठ 100
ISBN
विविध
इस पन्ने पर दी गई रचनाओं को विश्व भर के स्वयंसेवी योगदानकर्ताओं ने भिन्न-भिन्न स्रोतों का प्रयोग कर कविता कोश में संकलित किया है। ऊपर दी गई प्रकाशक संबंधी जानकारी छपी हुई पुस्तक खरीदने हेतु आपकी सहायता के लिये दी गई है।

अपनी आसन्नप्रसवा माँ के लिए तीन गीत

  • वर्षान्त / अशोक वाजपेयी
  • विदागीत / अशोक वाजपेयी
  • सुनो-1 / अशोक वाजपेयी
  • सुनो-2 / अशोक वाजपेयी
  • अन्त तक / अशोक वाजपेयी
  • स्टेशन पर विदा / अशोक वाजपेयी
  • साँझ / अशोक वाजपेयी
  • युवा जंगल / अशोक वाजपेयी
  • काँच के टुकड़े / अशोक वाजपेयी
  • जीवित जल / अशोक वाजपेयी
  • जन्मकथा / अशोक वाजपेयी
  • साँझ : शिशुजन्म / अशोक वाजपेयी
  • माँ / अशोक वाजपेयी
  • लौटकर जब आऊंगा / अशोक वाजपेयी
  • वसन्त के लिए एक कामना / अशोक वाजपेयी
  • सूर्यास्त / अशोक वाजपेयी
  • उषाओं के गर्भ में / अशोक वाजपेयी
  • पहला चुम्बन / अशोक वाजपेयी
  • प्यार करतेहुए सूर्य-स्मरण / अशोक वाजपेयी
  • जब हम प्यार करते हैं / अशोक वाजपेयी
  • वसन्त दिन / अशोक वाजपेयी
  • एक वसन्त की तरह / अशोक वाजपेयी
  • सुबह / अशोक वाजपेयी
  • स्मरण : नागफनी / अशोक वाजपेयी
  • दुख तेरे होने का / अशोक वाजपेयी
  • अवधि / अशोक वाजपेयी
  • प्यार करने के लिए / अशोक वाजपेयी
  • कहाँ होती है दुनिया / अशोक वाजपेयी
  • अपने शरीर से कहने दो / अशोक वाजपेयी
  • खुल गया है द्वार एक / अशोक वाजपेयी
  • शामें गुज़र जाती हैं / अशोक वाजपेयी
  • रक्त में डूबी / अशोक वाजपेयी
  • भिलाई में / अशोक वाजपेयी
  • मुझे घृणा करने दो / अशोक वाजपेयी
  • अन्त / अशोक वाजपेयी
  • हरी दीवार : एक पुरानी परिचिता के लिए / अशोक वाजपेयी
  • ठण्ड की एक शाम : एक पागल औरत / अशोक वाजपेयी
  • दस वर्ष बाद बालसखा से अचानक भेंट / अशोक वाजपेयी
  • कुछ कविताएँ पढ़कर / अशोक वाजपेयी
  • हुसैन के एक चित्र की अचानक याद / अशोक वाजपेयी
  • अली अकबर खाँ का सरोद वादन-1 / अशोक वाजपेयी
  • अली अकबर खाँ का सरोद वादन-2 / अशोक वाजपेयी
  • खजुराहो जाने से पहले / अशोक वाजपेयी
  • वसन्त गीत / अशोक वाजपेयी
  • हरियाली देखकर / अशोक वाजपेयी
  • ये महज़ एक ख़याल है / अशोक वाजपेयी
  • सूर्योदय से पूर्व कवि-जागरण / अशोक वाजपेयी
  • एक आदिम कवि का प्रत्यावर्तन / अशोक वाजपेयी
  • कवि-वक्तव्य / अशोक वाजपेयी
  • लोगों के बीच से एक यात्रा / अशोक वाजपेयी
  • लोगों का त्यौहार / अशोक वाजपेयी
  • एक छोटा शहर / अशोक वाजपेयी

एक कविता-क्रम

  • पराजित / अशोक वाजपेयी
  • ईश्वर / अशोक वाजपेयी
  • सम्भावना / अशोक वाजपेयी
  • अनुपस्थिति / अशोक वाजपेयी
  • निश्शब्द / अशोक वाजपेयी
  • शहर के पार मौत / अशोक वाजपेयी
  • उसके बाद / अशोक वाजपेयी