भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

शिव हो उतरब पार कओने विधि ना / मैथिली लोकगीत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मैथिली लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

शिव हो उतरब पार कओने विधि ना
भरल-पूरल अछि नहि परिवार
सपनहु सुख नहि, चिन्ता सवार
नहि हमरा रूप अछि, ने धनक शृंगार
तन अति खिन अछि, फूटल कपार
नहि हम मण्डन, नहि कालिदास
नहि हम विद्यापति, उगना खबास
जौं दरशन नहि पायब तोहार
जन्म बितायब तोरहि दुआर