भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

सदस्य वार्ता:Sirjanbindu

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सिर्जनविन्दु चर्चा पृष्ठ

मानकों के अनुसार कार्य

सृजनबिंदु टीम के सभी सदस्यों को मेरा नमस्कार!

कृपया चित्र अपलोड और जन्मतिथि/पुण्यतिथि के केस में मानकों के अनुसार कार्य करें। कविता कोश के मानक पृष्ठ पर इस बारे में जानकारी है।

--Lalit Kumar (वार्ता) 20:09, 5 अगस्त 2016 (CDT)

फ़िलहाल चित्र अपलोड करने की सुविधा को रोक दिया गया है। मेरा फिर से अनुरोध है कि मानकों को पढ़ें और उनके अनुसार कार्य करें। जल्दबाज़ी में कार्य करना उचित नहीं। आपने Bishnu-Bibhu-Ghimire-kavitakosh.jpg चित्र अपलोड किया जिसका आकार 1.3MB है। इस चित्र को कमज़ोर मोबाइल कनेक्शन पर दिखने में समस्या होगी। साथ ही Shyamal.kavitakosh.jpg चित्र में .kavitakosh जोड़ा गया है; जबकि इसे -kavitakosh होना चाहिए था।

कृपया मानक पृष्ठ अच्छे से पढ़ें और उसके बाद इस वार्ता पन्नें के ज़रिए सूचित करें ताकि अपलोड करने का अधिकार आपको फिर से दिया जा सके। आशा है आप अन्यथा नहीं लेंगे। यदि हम अभी से मानकों के अनुसार कार्य नहीं करेंगे तो नेपाली विभाग का स्वरूप बिगड़ जाएगा और हम सबकी मिली-जुली मेहनत व्यर्थ हो जाएगी। --Lalit Kumar (वार्ता) 20:41, 5 अगस्त 2016 (CDT)
नमस्कार, आप जन्मतिथि/पुण्यतिथि को मानक के अनुसार बदल रहे हैं, यह बहुत अच्छा है। लेकिन जहाँ मानक अनुसार तिथि ज्ञात न हो, वहाँ जो ज्ञात है उसी को लिखा रहने दें। जैसे कि कालीप्रसाद रिजाल के पन्नें से उनकी जन्मतिथि वि. सं. १९९६, चैत्र को हटाने की आवश्यकता नहीं थी। आशय यह है कि जहाँ हम मानक अनुसार तिथि दे सकते हैं वहाँ मानक अनुसार ही दें। अन्यथा जो भी तिथि ज्ञात है, वह भी दी जा सकती है। मानक अनुसार तिथि देने से रचनाकार के पन्नें पर कुछ श्रेणियाँ स्वत: ही जुड़ जाती हैं इसलिए मानक अनुसार तिथि देने की कोशिश करनी चाहिए। धन्यवाद! --Lalit Kumar (वार्ता) 11:06, 6 अगस्त 2016 (CDT)

.....

सुझाव के लिए धन्यवाद । --Sirjanbindu

सिन्टेक्स की ग़लतियाँ

मैंने अभी प्रयोगशाला पृष्ठ पर कुछ ग़लत और सही सिन्टेक्स के बारे में लिखा है। कृपया इन ग़लतियों पर ध्यान दें और इन्हें सुधारें।

इसके अलावा कृपया यह सुनिश्चित करें कि आप जो कविताएँ जोड़ रहे हैं उनकी वर्तनी बिल्कुल ठीक हो। मुझे नेपाली भाषा का ज्ञान नहीं है इसलिए हो सकता है कि कुछ वर्तनियाँ मुझे ग़लत लग रही हों लेकिन फिर भी आप डबल चेक अवश्य कर लें।

धन्यवाद!

--Lalit Kumar (वार्ता) 10:28, 23 सितम्बर 2016 (CDT)

वर्तनी

कल आपने रमेश क्षितिज जी की जो रचनाएँ जोड़ी हैं उनमें एक मात्रा ठीक से नहीं लगी है (उदाहरण के लिए शब्द "गरांै" की तरह दिख रहे हैं। कृपया जाँच लें।

--Lalit Kumar (वार्ता) 00:52, 21 नवम्बर 2016 (CST)

सुझाव के लिए धन्यवाद । --Sirjanbindu