भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

समधी भँडुआ के मुँहवा कैसन लगेला / मगही

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मगही लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

समधी भँडुआ के मुँहवा कैसन[1] लगेला[2]
जैसन बानर के मुँहवा ओएसन[3] लागेला।
जैसन लँगुर[4] के मुहँवा ओएसन लागेला॥1॥
समधी भँडुआ के मोछवा[5] कैसन लागेला, हे कैसन लागेला।
जैसन बोतुआ[6] के पुछिया[7] ओएसन लागेला॥2॥
समधी भँडुआ के दँतवा कैसन लागेला।
जैसन खुड़पी[8] के नोखवा[9] ओएसन लागेला॥3॥
समधी भँडुआ के दढ़िया[10] कैसन लागेला।
जैसन फेदवा[11] के झोंटवा[12] ओएसन लागेला॥4॥
समधी भँडुआ के पेटवा कैसन लागेला।
जैसन भतवा[13] के हँढ़िया, ओएसन लागेला॥5॥
समधी भँडुआ के टँगवा कैसन लागेला।
जैसन फौंड़ा[14] के लकड़ी, ओएसन लागेला॥6॥

शब्दार्थ
  1. कैसा
  2. ‘लागेला’ भोजपुरी प्रयोग है, लेकिन पश्चिम मगही क्षेत्र में इसका प्रयोग होता है। मगही में ‘लागेला’ की जगह पर ‘लागऽ हइ’ होना चाहिए।
  3. वैसा
  4. लंगूर, हनुमान, बंदर
  5. मूँछ
  6. बिना बधिया किया हुआ बकरा
  7. पूँछ
  8. खुरपी, घास गढ़ने या मिट्टी खोदने का लोहे का एक प्रकार का औजार
  9. नोंक
  10. दाढ़ी
  11. ताड़ का फल
  12. केश-गुच्छ
  13. भात
  14. फावड़ा