भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

सविता सिंह / परिचय

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रोफ़ेसर सविता सिंह

जन्मः फ़रवरी 1962, आरा (बिहार)

राजनीति शास्त्र में एम०ए०, एम०फिल०, पीएच०डी० (दिल्ली विश्वविद्यालय) । मैक्गिल विश्वविद्यालय, माण्ट्रियाल (कनाडा) में साढ़े चार वर्ष तक शोध एवं अध्यापन । शोध का विषय — ’भारत में आधुनिकता का विमर्श‘।

कनाडा में रिहाइश के बाद दो वर्ष का ब्रिटेन प्रवास. फ्रांस, जर्मनी, बेल्जियम, हॉलैण्ड और मध्यपूर्व तथा अफ़्रीका के देशों की यात्राएँ जिस दौरान विशेष व्याख्यान दिए ।

डेढ़ दशक तक दिल्ली विश्विद्यालय में अध्यापन । सम्प्रति इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्विद्यालय (इग्नू) में प्रोफेसर व स्कूल ऑफ जेन्डर एवं डेवलपमेण्ट स्टडीज़ की (संस्थापक) निदेशक ।

हिन्दी और अँग्रेज़ी में सामाजिक राजनीतिक परिदृश्य, स्त्री विमर्श और समकालीन वैचारिक मुद्दों पर लेखन। अन्तर्राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं में शोध-पत्र तथा साहित्यिक रचनाएँ प्रकाशित ।

पहला कविता-सँग्रह ’अपने जैसा जीवन‘ (2001) हिन्दी अकादमी द्वारा पुरस्कृत। दूसरे कविता-सँग्रह ’नींद थी और रात थी‘ (2005) पर रज़ा सम्मान । दो द्विभाषिक कविता-सँग्रह — ’रोविंग टुगेदर‘ (अंग्रेज़ी-हिन्दी) 2008 में प्रकाशित। अँग्रेज़ी में अन्तरराष्ट्रीय चयन ’सेवेन लीव्स, वन ऑटम‘ का सम्पादन, जिसमें प्रतिनिधि कविताएँ शामिल।

जनकवि मुकुट बिहारी सरोज सम्मान।

’पचास कविताएँ नई सदी’ के अन्तर्गत पचास कविताओं का चयन – ’सविता सिंह’ सन 2012 प्रकाशित ।
सम्पर्क : savita.singh6@gmail.com