भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

हमें पूछो, हम बताएंगे जो हुआ वहां / सांवर दइया

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हमें पूछो, हम बताएंगे जो हुआ वहां।
उठ खड़ा हुआ बहस को कौन-सा मुद्दा वहां।

कहा यही कि नीचे कोसों बिछी है बालू,
लेकिन निकल आया एक मीठा कुआं वहां।

समर्थन में हाथ उठाने बुलवाया जिन्हें,
सामने तान चले मुट्ठियां, यह हुआ वहां!

जलसे से घर पहुंचना भी हो गया मुश्किल,
बात ही में हवा का रूख ऐसा हुआ वहां।

वे कहते हैं कोई वारदात नहीं हुई,
आप चलकर देखें, उठ रहा है धुआं वहां।