भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

हर सोच तितली / डोरिस कारेवा / तेजी ग्रोवर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अन्त तक
सोची गई हर सोच
तितली में
बदल जाती है; मुक्त होती हुई ।

जैसे
कोई लहर
वसन्त से टकराती है ।

यह तूफ़ान
जिसकी
सांस लेते हो तुम
हृदय-भर ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : तेजी ग्रोवर