भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

हृत्शूल / नाज़िम हिक़मत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

डॉक्टर, यदि मेरा आधा दिल यहाँ है
तो बाक़ी आधा दिल चीन में
उस फ़ौज के साथ रहता है, जो पीतनदी की ओर बढ़ती जाती है।
इसके अलावा हर सुबह, डॉक्टर,
हर सुबह, पौ फटते,
मेरा दिल यूनान देश में गोली से घायल हो जाता है।

और जब सारे क़ैदी सो जाते हैं
रोगी-गृह के बाहर अन्तिम पद्चाप सुनाई पड़ती है
मेरा दिल चला जाया करता है, डॉक्टर,
इस्तम्बूल के लकड़ी के बने हुए एक छोटे घर में।
और यह भी बात है, डॉक्टर, कि दस साल,
मेरे पास कुछ नहीं रहा है जिसे मैं अपनी जनता को दे सका होता,
कुछ भी नहीं रहा है सिर्फ़ एक सेव के
मेरे दिल के लाल सेव के।

सीख़चों के बीच से रात को निहारता हूँ
और मेरी छाती पर इन दीवारों के बोझ के बावजूद
मेरा दिल दूर से, दूर सितारे के साथ धड़का करता है।
इन्हीं सब बातों के कारण ही, डॉक्टर,
और धमनी जठरता के कारण नहीं,
या निकोटीन या जेल के कारण नहीं
मुझे हत्शूल का रोग है।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : चन्द्रबली सिंह