भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

हे मकड़ी / ज़्देन्येक वागनेर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हे मकड़ी, तुम कैसा
ख़ास जाला बुनती हो?
तुम स्वप्निल कन्या के
बालों पर चलती हो।

हे मकड़ी, तुम कैसा
अद्भुत जाल कातती हो?
ख़ूबसूरत कन्या का
बाल तुम आज खींचती हो।

हे मकड़ी, तुम केश में
क्यों घूमने जाती हो?
आशा है तुम रोज़ सुख
कन्या को देती हो।

अब यही कविता चेक भाषा में पढ़े :

Pavoučku


Pavoučku, jakou to
podivnou síť si pleteš?
Memurce zasněné
po jejích vlasech lezeš.

Pavoučku, jakoupak
záhadnou síť si spřádáš?
Memurku překrásnou
za dlouhé vlasy taháš.

Pavoučku, pročpak jen
ve vlasech věčně bloudíš?
Snad aspoň memurce
každý den štěstí nosíš.

कवि की टिप्पणी

इस कविता में एक ख़ास शब्द मिलता है: memurka (उच्चारण मेमुर्का)। यह एक
नया शब्द है। मैं इसका अर्थ समझाने की कोशिश करूँगा।

हिंदी में रिश्तेदारों के बहुत से नाम हैं। चेक में चाची या मामी को एक
ही शब्द है: tetička (रूसी में тётя)। चाचा या मामा को चेक में सिर्फ़
strýček बोला जाता है। व्लदिमीर पारल की एक रचना में हर व्यक्ति किसी का
चाचा या किसी की चाची है। इस से प्रेरणा लेकर हम साथ काम में strýček और
tetička कहते हैं। जब हम लोग बचपन में रूसी सीखते थे तब हम लोग मज़ा करके
रूसी शब्द चेक जैसे शब्द पढ़ते थे। हम ऐसी ही मज़ा कभी-कभी अब तक करते हैं।
अगर tetička को अगर रूसी लिपि में (memurka) चेक की तरह
पढ़े तो उच्चारण memurka मेमूर्का होगा। हमें यह शब्द बहुत पसंद है। इसका
अर्थ सुन्दर लड़की या सुन्दर महिला है। लेकिन यह शब्द किसी शब्दकोश में नहीं
मिलता है। हिंदी में अनुवाद देकर मैंने नया शब्द न बनाने का निश्चय किया।
मैं सोचता हूँ की अनुवाद में 'कन्या' अच्छा ही शब्द है।