भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

हो नहीं सकती / सांवर दइया

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दिखती हो बेशक सीधी
सीधी नहीं होती लेकिन सड़क कोई

कदम-कदम पर होते हैं
छोटे-छोटे ही सही
उतार-चढ़ाव
दृश्य-अदृश्य गड्ढ़े
हल्की-सी बांक कोई
     रख दी जाती है
या रह भी जाए तो क्या

चलने वाला जानता है
सीधी हो नहीं सकती सड़क कोई
आदमी ने जो बनाया है इसे !