भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  रंगोली
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

उस दुनिया की सैर के बाद / सांवर दइया

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उस दुनिया की सैर के बाद
Us Duniya Ki Sair Ke Baad.jpg
रचनाकार सांवर दइया
प्रकाशक नेगचार प्रकाशन, बीकानेर
वर्ष 1995
भाषा हिन्दी
विषय कविता
विधा मुक्त छन्द
पृष्ठ 80
ISBN
विविध काव्य
इस पन्ने पर दी गई रचनाओं को विश्व भर के स्वयंसेवी योगदानकर्ताओं ने भिन्न-भिन्न स्रोतों का प्रयोग कर कविता कोश में संकलित किया है। ऊपर दी गई प्रकाशक संबंधी जानकारी छपी हुई पुस्तक खरीदने हेतु आपकी सहायता के लिये दी गई है।