Last modified on 24 सितम्बर 2016, at 00:08

केकरा सें करौं तकरार कोय नै सुनै छै / रामधारी सिंह 'काव्यतीर्थ'

Sharda suman (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 00:08, 24 सितम्बर 2016 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

केकरा सें करौं तकरार कोय नै सुनै छै
दागी सांसद केॅ संसद सेॅ के हटावै छै

बिना पढ़ने परीक्षा देने पासे होय छै
ऊ सब लोगोॅ केॅ नौकरी सेॅ के भगावै छै

वोट खरीदिये केॅ जीतैवाला नेता सेॅ
छेतरोॅ के विकासोॅ केॅ आशा केकरै छै

किसानें खाद बीज बड़ी मंहगोॅ खरीदै छै
उपजला पर अन्नांे के दाम केॅ बढ़ावै छै

पढ़ाय न लिखाय हाजिरी बनावै छै ‘राम’
नेतागिरि करै वाला केॅ के कहै पारै छै