भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

"गुजराती लोकगीत" के अवतरणों में अंतर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पंक्ति 1: पंक्ति 1:
  
  [[पंखिडा रे उड़ी जाजे पावागढ़ रे / गुजराती लोक गरबा  ]]
+
  [[van vagda na vayaare ghumre gayare/ gujrati]]
 +
 
 +
 
 +
पंखिडा रे उड़ी जाजे पावागढ़ रे / गुजराती लोक गरबा  ]]
 
* [[तारा विना श्याम मने एकलडु लागे / गुजराती लोक गरबा ]]
 
* [[तारा विना श्याम मने एकलडु लागे / गुजराती लोक गरबा ]]
 
* [[महेंदी ते वावी मालवे ने / गुजराती लोक गरबा]]
 
* [[महेंदी ते वावी मालवे ने / गुजराती लोक गरबा]]

08:22, 24 फ़रवरी 2010 का अवतरण

van vagda na vayaare ghumre gayare/ gujrati


पंखिडा रे उड़ी जाजे पावागढ़ रे / गुजराती लोक गरबा ]]