Last modified on 19 दिसम्बर 2019, at 21:03

दवाओं से कहो जाकर, मरीजों पे असर डालो / अवधेश्वर प्रसाद सिंह

दवाओं से कहो जाकर, मरीजों पे असर डालो।
दुआएं संग ले जाकर, उसे मेरी उमर डालो।।

गरीबों की वज़ह से ही महल में रोशनी जलती।
अमीरों सुन जरा तुम भी, जमी पे मत नजर डालो।।

हवा तुम रुख नहीं बदलो, किसानों पे तरस खाओ।
कहीं ऐसा न हो की तुम किसी का घर बिखर डालो।।

जमाना था कभी ऐसा कि उसकी बात में दम था।
खुदा से कह जरा अब मत गरीबों पे कहर डालो।।

जवानी में कहीं तुम खुद मुसीवत में नहीं फसना।
जिधर देखो हसीनों को नजर तुम मत उधर डालो।।