भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

वासु आचार्य / परिचय

Kavita Kosh से
Neeraj Daiya (चर्चा | योगदान) द्वारा परिवर्तित 20:20, 15 फ़रवरी 2015 का अवतरण ('{{KKRachnakaarParichay |रचनाकार=वासु आचार्य }}<poem>'''श्री वासु आचार्य...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

श्री वासु आचार्य (1944-2015)
जन्म: 11 जनवरी, 1944
निधन: 14 फरवरी, 2015
बीकानेर राजस्थान मे जन्मे कवि वासु आचार्य के जीवन काल में चार कविता संग्रह राजस्थानी में सरणाटो (1989), सीर रो घर(1997), सूको ताळ(2002), खटारा साइकल रै सायरै(2007) के अतिरिक्त अपने सूरज पर विश्वास (1985) हिंदी में प्रकाशित हुए। आपको राजस्थानी कविता संग्रह “सीर रो घर” पर साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया एवं इस कविता संग्रह का हिंदी अनुवाद अनिरुद्ध उमट द्वारा किया गया जो कि साहित्य अकादेमी द्वारा "सीर का घर" (2015) प्रकाशित है। आप शिक्षा विभाग राजस्थान में शिक्षक के पद से सेवारत रहे।